IAS Success Story: UPSC टॉपर शुभम कुमार ने बताया सफलता का राज

शुभम कुमार बिहार के कटियार जिले के कदवा प्रखंड के कुम्हडी गांव के रहने वाले हैं। फिलहाल वह एक निजी कंपनी में काम कर रहे हैं। उनके पिता देवानंद सिंह उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक पूर्णिया शाखा के प्रबंधक हैं।

IAS Success Story: UPSC टॉपर शुभम कुमार ने बताया सफलता का राज
#IASShubhamKumar

संघ लोकसेवा आयोग (UPSC) ने 2020 का सिविल सेवा परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया है। बिहार के रहने वाले शुभम कुमार ने टॉप किया है। इसके अलावा जागृति अवस्थी ने दूसरी और अंकिता जैन ने तीसरा रैंक हासिल किया है। वहीं 2015 बैच की टॉपर IAS टीना डाबी की बहन ने 15वां रैंक हासिल किया है।
वहीं UPSC टॉप करने के बाद पूरा देश शुभम कुमार के बारे में जानना चाहता है, लोग यह भी जानना चाहते हैं कि आखिर उनकी सफलता का राज क्या है? जिसकी बदौलत उन्होंने भारत की सबसे कठिन परीक्षा में पहला रैंक हासिल किया है। चलिए बताते हैं कि आखिर शुभम कुमार की सफलता का राज क्या है?

शुभम का कहना है कि IAS बनने के लिए मेहनत के साथ-साथ फोकस बहुत जरुरी है। शुरुआत में दिन में 7 से 8 घंटे ही पढ़ाई करता था। लेकिन जब प्री क्लियर हो गया तो 8 से 10 घंटे की पढ़ाई शुरु कर दी। उनका कहना है कि उनकी सफलता में माता-पिता के अलावा बड़ी बहन का अधिक सहयोग मिला। जो इंदौर में साइंटिफिक ऑफिसर हैं और तैयारी में अकसर मुझे मोटिवेट करती रहती थीं। UPSC टॉपर शुभम कुमार का कहना है कि सफलता में परिवार बेहद अहम रोल प्ले करता है। इससे पहले उन्होंने 2019 की UPSC की परीक्षा में 290वां रैंक हासिल किया था। उस वक्त उनका चयन इंडियन अकाउंटेंस सर्विस के लिए किया गया।

चलिए आपको बताते हैं कि UPSC टॉपर शुभम कुमार कौन हैं? शुभम कुमार बिहार के कटियार जिले के कदवा प्रखंड के कुम्हडी गांव के रहने वाले हैं। फिलहाल वह एक निजी कंपनी में काम कर रहे हैं। उनके पिता देवानंद सिंह उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक पूर्णिया शाखा के प्रबंधक हैं। जो खुद IAS बनना चाहते थे, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।  अब उनके बेटे ने पूरे देश में पहला रैंक हासिल कर उनका मान बढ़ा दिया है। शुभम का कहना है कि उनके पिता उनके प्रेरणा हैं।

14 फरवरी 1997 को जन्मे शुभम कुमार की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने पूर्णिया के विद्या बिहार से 10वीं तक की पढ़ाई की है। इसके बाद 2014 में उन्होंने बोकारो के चिन्मया विद्यालय से 12वीं की परीक्षा पास की। इसी साल उन्होंने IIT की परीक्षा पहले की प्रयास में उत्तीर्ण की। उन्होंने IIT बॉम्बे में दाखिला लिया और 2019 में IIT पास आउट हुए। IIT की पढ़ाई के दौरान ही उन्होंने UPSC की तैयारी भी शुरु कर दी थी। 2018 की परीक्षा में वह सफल नहीं हुए, लेकिन 2019 में उन्होंने 290वां रैंक हासिल किया। वहीं अपने दूसरे प्रयास में शुभम ऑल ओवर इंडिया टॉपर रहें। अब जब उन्होंने यूपीएसी टॉप कर लिया है तो उनका कहना है कि अब वह IAS बनकर ग्राउंड पर काम करेंगे।