चीन पर UP STF का एक्शन, कर्मचारियों को तुरंत चीनी ऐप्स डिलिट करने को कहा

#BoycottChina की मुहीम में अब उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स भी शामिल हो गई है। दरअसल, यूपी एसटीएफ ने अपने कर्मचारियों को एक कॉन्फिडेन्सियल टेलर जारी कर मोबाइल से चीनी ऐप को डिलीट करने के लिए कहा है।

चीन पर UP STF का एक्शन, कर्मचारियों को तुरंत चीनी ऐप्स डिलिट करने को कहा
UP STF

#BoycottChina की मुहीम में अब उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स भी शामिल हो गई है। दरअसल, यूपी एसटीएफ ने अपने कर्मचारियों को एक कॉन्फिडेन्सियल टेलर जारी कर मोबाइल से चीनी ऐप को डिलीट करने के लिए कहा है। एसटीएफ द्वारा जारी पत्र में कुल 52 ऐसे चाइनीज ऐप हैं, जिसे हटाने के लिए कहा गया है। क्योंकि संभावना है कि इन ऐप्स के जरिए डाटा चोरी किया जाता है। इतना ही एसटीएफ के कर्मचारियों के अलावा उनके परिवार वालों को भी इन ऐप को डिलीट करने के लिए कहा गया है।

STF के IG अमिताभ यश अपने कर्मचारियों से कुल 52 चाइनीज ऐप को डिलीट करने का आग्रह किया है। बताया जा रहा है कि गृहमंत्रालय ने इस संबंध में एक गाइडलाइन जारी है, जिसके बाद एसटीएफ ने तुरंत एक्शन लिया है। गौरतलब है, भारतीय खुफिया एजेंसियों ने 52 ऐसे चाइनीज एप की लिस्ट सरकार को सौंपी है, जिनसे व्यक्तिगत और अन्य डाटा चोरी होने की संभावना है। खुफिया एजेंसी ने सरकार से तुरंत इन ऐप्स को ब्लॉक करने की मांग की थी। इन ऐप्स की सूची अप्रैल में ही तैयार कर ली गई थी, लेकिन एक्शन अब हो रहा है।

जिन ऐप से डाटा चोरी होने की संभावना है, उनमें टिक टॉक, जूम ऐप, यूपी ब्राउजर, क्लीन मास्टर, जेंडर, शेयर चैट, विगो वीडियो, विगो लाइव, वेबो, वी चैट, हैलो और लाइकी जैसे एप्स शामिल हैं। हालांकि, सरकार की तरफ से अब तक उन ऐप्स को ब्लॉक करने का या यूज करने को लेकर कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है। बता दें, आए दिन चीनी ऐप्स पर भारतीय यूजर्स का डाटा चीन के सर्वर पर भेजने का आरोप लगता रहता है।