UP Election 2022: किसान रैली के जरिए प्रियंका वाड्रा ने योगी सरकार को घेरा

बनारस में किसान रैली को संबोधित करते हुए  कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी में जो हुआ, इस देश के गृह राज्यमंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे 6 किसानों को निर्ममता से कुचल दिया।

UP Election 2022: किसान रैली के जरिए प्रियंका वाड्रा ने योगी सरकार को घेरा
#PriyankaVadra

बनारस में किसान रैली को संबोधित करते हुए  कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी में जो हुआ, इस देश के गृह राज्यमंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे 6 किसानों को निर्ममता से कुचल दिया। 6 के 6 परिवार यह कहते हैं कि हमें पैसे नहीं चाहिए, हमें मुआवजा नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए। आपने देखा कि सरकार पूरी तरह से उस मंत्री और मंत्री के बेटे के बचाव में लगी रही। पुलिस और प्रशासन विपक्ष के नेताओं को रोकने में लगा था। जब मैंने रात में वहाँ जाने की कोशिश की तो हर सड़क पर पुलिस थी।

प्रियंका वाड्रा ने कहा - मुझे रोकने की कोशिश की गई। तमाम जगह पुलिस के घेरे थे, नाकेबंदियां थी। जो पीड़ित परिवार हैं, उनके घरों में उन्हें नजरबंद किया गया। लेकिन अपराधी को पकड़ने के लिए एक भी पुलिस वाला नहीं निकला। अपराधी के घर में उन्होंने निमंत्रण भेजा कि आप आकर हमसे बात कीजिये। आपने दुनिया के किसी भी देश में या हमारे देश के इतिहास में ऐसा देखा है कि एक आदमी 6 लोगों को कुचल दे और पुलिस उसको निमंत्रण दे रही हो कि आइये हमसे बात कीजिए। पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए प्रियंका ने कहा जो प्रधानमंत्री लखनऊ आ सकते थे, क्या वो दो घंटे के लिए उन किसानों का हाथ पकड़ कर उनके आंसू पोंछने के लिए लखीमपुर खीरी नहीं जा सकते थे?

पीड़ितों को न्याय की आस नहीं

प्रियंका वाड्रा ने कहा कि जिस आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, ये आजादी हमें किसने दी है? ये आजादी हमें किसानों ने दी है, किसान के बेटे ने दी है। इस देश को किसान ने सींचा है। आज भी किसान का बेटा हमारी सीमाओं पर खड़ा है। ये देश एक आस्था है, एक उम्मीद है, इसी न्याय की उम्मीद पर इस देश को आजादी मिली। जब महात्मा गांधी जी आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए गये तो उनके दिल में ये था कि मेरी जनता को, किसानों को, दलितों को न्याय मिलना चाहिए।

प्रियंका वाड्रा ने कहा सभी परिवारों ने यही कहा कि हमें न्याय मिलने की उम्मीद नहीं है। अगर हमारे देश में कोई कुचला जाता है, किसी पर हिंसा होती है, किसी पर अत्याचार होता है और उसको न्याय मिलने की उम्मीद नहीं होती तो वह किसके पास जाएगा। अगर सरकार, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, गृह राज्यमंत्री और विधायक सभी मिले हुए हैं, सभी उनकी तरफ अपनी पीठ मोड़ दें तो जनता किसके पास जाए और क्या करे? उन्होंने कहा मोदी जी के अरबपति मितरों ने पिछले साल हिमाचल से सेब ₹88 किलो में खरीदा था, इस साल वही सेब ₹72 किलो में खरीद रहे हैं। सबकी मजबूरी हो गई है कि वो सेब का दाम घटाएं। किसान की लागत बढ़ गई है, क्योंकि फसल की कीमत तय करने का फैसला अब खरबपति तय कर रहे हैं।

पीएम मोदी पर साधा निशाना

पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए प्रियंका वाड्रा ने कहा मोदी जी ने आंदोलन कर रहे किसानों को आंदोलनजीवी कहा, उन्हें आतंकी कहा गया। योगी जी ने उपद्रवी कहा, धमकाने की कोशिश की। इसी गृह राज्यमंत्री ने धमकाकर कहा कि मैं 2 मिनट में तुम्हें सबक सिखा दूंगा। दुनिया के कोने-कोने तक हमारे प्रधानमंत्री घूम सकते हैं, अमेरिका जा सकते हैं, जापान जा सकते हैं, देशों में भ्रमण कर सकते हैं। लेकिन अपने किसानों से बात करने के लिए अपने घर से मात्र 10 किमी दूर दिल्ली के बॉर्डर पर नहीं जा सकते। उन्होंने कहा अपने आपको गंगा पुत्र कहने वाले हमारे प्रधानमंत्री ने गंगा मां के आशीर्वाद से खेतों में फसल लहराने वाले करोड़ों गंगा पुत्रों का अपमान किया है। उनकी पूरी खेती, पूरी फसल अपने खरबपति मितरों को देने की साजिश की है।