UP के छात्रों के लिए राहत भरी खबर, बिना परीक्षा पास होंगे 48 लाख छात्र-छात्रा

इस प्रकार करीब 48 लाख से ज्यादा छात्र-छात्रा बिना परीक्षा दिए अगली कक्षा के लिए प्रोन्नत हो जाएंगे। हालांकि, सरकार ही जल्द इस संबंध में आधिकारिक फैसला लेगी।

UP के छात्रों के लिए राहत भरी खबर, बिना परीक्षा पास होंगे 48 लाख छात्र-छात्रा
Yogi Adityanath

मार्च में लॉकडाउन लगने के बाद उत्तर प्रदेश में विश्वविद्यालय की परीक्षाएं स्थगित हो गई थी। वहीं जब परीक्षा कराने की चर्चा शुरु हुई और परीक्षा की तिथियां घोषित की गई तब छात्रों ने इसका विरोध किया। कई जगहों पर छात्रों ने प्रदर्शन भी किया तो कुलपति से मिलकर परीक्षा रद्द कराने की मांग की। ऐसे में खबर सामने आई है कि प्रदेश में विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं नहीं कराई जाएगी। यानि बिना परीक्षा दिए छात्र-छात्राओं को अगली कक्षा के लिए प्रोन्नत कर दिया जाएगा। इस प्रकार करीब 48 लाख से ज्यादा छात्र-छात्रा बिना परीक्षा दिए अगली कक्षा के लिए प्रोन्नत हो जाएंगे। हालांकि, सरकार ही जल्द इस संबंध में आधिकारिक फैसला लेगी।

बता दें, विश्वविद्यालयों में परीक्षा को लेकर चार सदस्यीय कुलपतियों की समिति बनाई गई थी। जिसकी अध्यक्षता मेरठ विश्वविद्यालय के कुलपति एके तनेजा कर रहे थे। समिति ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी है। जिस पर अंतिम फैसला सरकार को ही करना है। वहीं इससे पहले विश्वविद्यालयों में परीक्षा कराने और सेशल को लेकर यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन-यूजीसी ने एक समिति बनाई थी। यूजीसी ने अपनी रिपोर्ट में बिना परीक्षा कराए छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नत करने की सिफारिश की थी।

इससे पहले विभिन्न छात्र संगठनों ने यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं स्थगित करने की मांग की थी। वहीं जब परीक्षा की तारीखों की घोषणा की गई, उसके बाद छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। कोरोना संक्रमण के दौरान छात्र सड़कों पर भी उतर आए और आखिरकार अब कुलपतियों के सचिव ने परीक्षा न कराने की सिफारिश की है।