गरीबों की पहुंच से दूर रेमडेसिवीर दवा, कीमत 1.75 लाख रुपए

रेमडेसिवीर दवा की एक शीशी की कीमत 390 डॉलर यानि 29,450 रुपए के करीब है। कोरोना इलाज के लिए दवा के कोर्स को 5 दिनों का तय किया गया है।

गरीबों की पहुंच से दूर रेमडेसिवीर दवा, कीमत 1.75 लाख रुपए
Remdesivir

कोरोना काल में अंग्रेजी दवा कंपनियां गरीबों को लूटने का कोई मौका नहीं गंवाने वाले हैं। कोरोना के इलाज के लिए जिस रेमडेसिवीर दवा को मंजूरी दी गई है, वह गरीबों की पहुंच से कोसों दूर हैं। क्योंकि रेमडेसिवीर दवा की एक शीशी की कीमत 390 डॉलर यानि 29,450 रुपए के करीब है। कोरोना इलाज के लिए दवा के कोर्स को 5 दिनों का तय किया गया है। इस लिहाज के कोरोना मरीजों को इस दवा के प्रयोग के लिए करीब 1 लाख 75 हजार रुपए खर्च करने होंगे। वहीं कई मामलों में इस दवा का कोर्स 10 या 11 दिनों तक भी चल सकता है। ऐसे में गरीब ही क्या, मध्य वर्गीय परिवार के लोगों के लिए भी इस दवा का प्रयोग करना मुश्किल होगा।

रेमडेसिवीर को बनाने वाली कंपनी गिलीड साइंसेज ने बयान जारी कर बताया कि अमेरिकी सरकार और अन्य विकसित देशों से कोरोना वायरस ड्रग रेमडेसिवीर की एक शीशी के लिए 390 डॉलर वसूलेगी। वहीं कंपनी ने यह भी कहा है कि इस दवा की वैल्यू के आधार पर वह अधिक चार्ज सकती थी, लेकिन कंपनी ने इसकी कीमत कम इसलिए रखी ताकि अन्य सभी देश इसे खरीद सके। 

बता दें, कोरोना वायरस के इलाज के लिए रमेडेसिवीर दाव का इस्तेमाल शुरु हो गया है। तमाम ट्रायल में ये दावा किया गया कि इस दवा के प्रयोग से कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट में वृद्धि हुई। वहीं इस दवा के नतीजों के आोधार पर अमेरिकी ड्रग रेग्युलेटर ने रेमडेसिवीर के इस्तेमाल के लिए मई में मंजूरी दी थी।