#KartikTyagiBiography: इलाज के लिए पिता को बेचनी पड़ी थी जमीन

राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी ने पंजाब किंग्स के खिलाफ जिस तरह आखिरी ओवर डाला, उसे आने वाले समय में भी सर्वश्रेष्ठ आखिरी ओवरों में गिना जाएगा। कार्तिक त्यागी ने स्पीड और सटीक यॉर्कर गेंदबाजी की बदौलत अपनी टीम को हारी हुई बाजी जिता दी।

राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी ने पंजाब किंग्स के खिलाफ जिस तरह आखिरी ओवर डाला, उसे आने वाले समय में भी सर्वश्रेष्ठ आखिरी ओवरों में गिना जाएगा। कार्तिक त्यागी ने स्पीड और सटीक यॉर्कर गेंदबाजी की बदौलत अपनी टीम को हारी हुई बाजी जिता दी। जिसके बाद उनकी चर्चा चारों तरफ हो रही है। लोग उनकी तुलना दिग्गज तेज गेंदबाज ब्रेट ली से कर रहे हैं। वहीं टीम इंडिया के दिग्गज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने त्यागी की तारीफ की। पिछले सीजन में मुंबई इंडियंस के खिलाफ डेब्यू करने  वाले कार्तिक त्यागी ने यहां तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किया है। घर की आंगन से क्रिकेट की शुरुआत करने वाले त्यागी आज दुनिया के बेहतरीन स्टेडियम में चर्चित खिलाड़ियों के साथ खेल रहे हैं। एक वक्त ऐसा था कि कार्तिक त्यागी के इलाज के लिए उनके पिता को जमीन तक बेचनी पड़ गई थी।

किसान परिवार से IPL तक का सफर

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के धरौना गांव में जन्मे कार्तिक त्यागी का बचपन भी एक गांव में रहने वाले आम लड़के की तरह ही था। जो किसानी में अपने पिता करता था। अनाज की बोरियां उठाता था और खेतों में फावड़ा चलाता था। लेकिन कार्तिक त्यागी की जुनून क्रिकेट की तरफ भी था। किसान परिवार से आने की वजह से शुरु में तो घर वालों में अपने लड़के की बातों पर ध्यान नहीं दिया। लेकिन कार्तिक त्यागी की जिद के आगे पिता योगेंद्र त्यागी बेबस हो गए और उन्होंने हापुड़ की क्रिकेट एकेडमी में दाखिला करा दिया। अच्छी हाईट होने की वजह से कोच विपिन वत्स ने कार्तिक को तेज गेंदबाजी की सलाह दी। कोच की बात मानते हुए कार्तिक त्यागी ने लगन से तेज गेंदबाजी शुरु कर दी। लेकिन वार्मअप के दौरान फुटबॉल खेलते हुए कार्तिक त्यागी ने पैर फ्रैक्चर करवा लिया। शुरु में लगा कि चोट जल्दी ठीक हो जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार ने किसी तरह दिल्ली डॉक्टरों में दिखाया, लेकिन वहां से भी कोई लाभ नहीं हुआ। अंत में उनके पिता ने जमीन बेचकर उनका इलाज कराया।

कभी नहीं खेलूंगा फुटबॉल

अपने चोट के बारे में कार्तिक त्यागी कहते हैं – फुटबॉल खेलने के दौरान मैंने अपना पैर फ्रैक्चर करवा लिया था। इलाज के लिए इधर से ऊधर भागे। पैसों के लिए भी कई लोगों के पास जाना पड़ा। चोट के 5 महीनों बाद मैंने UPCA  से NCA भेजने की सिफारिश की। लेकिन वहां का खर्च खुद उठाना पड़ा। मेरे इलाज के लिए पिता जी को 2.5 एकड़ जमीन बेचनी पड़ी। अब मैं फुटबॉल नहीं खेलता हूं। जब टीम वार्म अप के दौरान फुटबॉल खेलती है तो मैं दूसरा खेल खेलता हूं।

खुद ब्रेट ली भी हैं मुरीद

2016 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत करने वाले 21 वर्षीय कार्तिक त्यागी का संघर्ष बेशक बड़ा रहा, लेकिन अब आईपीएल में राजस्थान के रॉयल गेंदबाज बन गए हैं। जिन पर कप्तान संजू सैमसन को पूरा भरोसा है। दुनिया के दिग्गज क्रिकेटर अब उनके प्रशंसक बन चुके हैं। पिछले सीजन में इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने कार्तिक की तारीफ करते हुए उन्हें भविष्य का ब्रेट ली बताया था। बेन स्टोक्स ने कहा था कि कार्तिक त्यागी का रनअप ब्रेट ली जैसा है। वहीं खुद ब्रेट ने कहा था कि कार्तिक का एक्शन उनके जैसा ही है। कार्तिक त्यागी भी ब्रेट ली को अपना रोल मॉडल मानते हैं, लेकिन उन्हें भुवनेश्वर कुमार की गेंदबाजी भी बेहद पसंद है।