Delhi:रोहिणी कोर्ट में फिल्मी अंदाज में चली ताबड़तोड़ गोलियां, मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर की हत्या

दिल्ली स्थित रोहिणी कोर्ट के अंदर शुक्रवार को फिल्मी अंदाज में दो बदमाशों ने मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर जितेंद्र गोगी (30) पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर हत्या कर दी गई। कोर्ट में हुए इस गैंगवार में कुल 3 लोग मारे गए। जबकि 3-4 व्यक्ति घायल भी हुए हैं।

Delhi:रोहिणी कोर्ट में फिल्मी अंदाज में चली ताबड़तोड़ गोलियां, मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर की हत्या
#RohiniCourtGangwar

दिल्ली स्थित रोहिणी कोर्ट के अंदर शुक्रवार को फिल्मी अंदाज में दो बदमाशों ने मोस्ट वांटेड गैंगेस्टर जितेंद्र गोगी (30) पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर हत्या कर दी गई। कोर्ट में हुए इस गैंगवार में कुल 3 लोग मारे गए। जबकि 3-4 व्यक्ति घायल भी हुए हैं। बता दें, शुक्रवार को जितेंद्र गोगी को तिहाड़ जेल से पेशी के लिए रोहिणी कोर्ट लाया गया था, जहां पहले से ही वकील के ड्रेस में 2 शूटर मौजूद थे। जैसे ही गोगी कोर्ट परिसर पहुंचा बदमाशों ने उस पर गोलियां बरसा दी, गोगी को 3 गोलियां लगी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। वहीं गोगी की सुरक्षा में लगे दिल्ली पुलिस ने जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों हमलावरों को मार गिराया। उनमें से एक हमलावर पर 50,000 रुपए का इनाम भी घोषित था।

कोर्ट के अंदर घमासान

दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने मीडिया को बताया था कि गैंगेस्टर जितेंद्र गोगी को सुनवाई के लिए कोर्ट लाया गया, जहां उस पर दो अपराधियों ने गोलियां चलाई। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने दोनों हमलावरों को मार गिराया। वहीं वकील ललित कुमार का कहना है कि घटना डेढ़ बजे के आसपास की है। हमलावर वकील की ड्रेस में आए थे। उन्होंने गोगी को 3 गोलियां मारी। वहीं दिल्ली पुलिस ने जवानों से जवाबी फायरिंग में 25-30 गोलियां चलाई। जिसमें दोनों अपराधियों की मौत हो गई। वकील ने बताया कि घटना गोगी के मामले की सुनवाई के दौरान ही घटी। उस वक्त कोर्ट में जज, स्टॉफ और वकील भी मौजूद थे।

कौन है जितेंद्र गोगी?

बता दें, जितेंद्र गोगी दिल्ली का कुख्यात गैंगेस्टर है, जो पिछले 2 सालों से तिहाड़ जेल में बंद था। 2020 में स्पेशल सेल ने उसे गुरुग्राम से गिरफ्तार किया था। गोगी के साथ कुलदीप फज्जा को भी गिरफ्तार किया गया था। लेकिन 25 मार्च को वह जीटीबी से फरार हो गया था। बाद में पुलिस ने उसे एक एनकाउंटर में मार गिराया। दिल्ली पुलिस की स्पेशल का कहना है कि जितेंद्र गोगी ने अपराध के जरिए करोड़ो रुपए की संपत्ति बनाई है। उसके गैंग में 50 से अधिक लोग हैं। गोगी के अपराधों की फेहरिस्त काफी लंबी है। 2017 में उसने अलीपुर के प्रधान देवेंद्र की हत्या कर दी थी, क्योंकि प्रधान का बेटा उसके सहयोगी निरंजन की हत्या में शामिल था। 2017 में ही गोगी ने हरियाणवी गायक और डांसर हर्षिता दहिया की पानीपत में हत्या कर दी थी। दरअसल, हर्षिता दहिया अपने जीजा दिनेश कराला के खिलाफ हत्या के मामले में मुख्य गवाह थी। लेकिन दिनेश कराला ने ही हर्षिता को मारने के लिए गोगी को सुपारी दे दी।

Subscribe on Youtube

 

जोगेंद्र गोगी के करतूतों की लिस्ट यहीं नहीं खत्म होती। नवंबर 2020 में स्कूल के बाहर टीचर दीपक और जनवरी 2021 में रवि भारद्वाज की गोगी ने हत्या कर दी। गोगी ने रवि भारद्वाज को 25 गोलियां मारी थी। इतना ही नहीं उसने अक्टूबर 2019 में नरेला में आम आदमी पार्टी के नेता वीरेंद्र मान उर्फ कालू को 26 गोलियां मार मौत के घाट उतार दिया। इसके अलावा गोगी ने रोहिणी के  कंझावला में पवन पर गोलियां की बौछार कर दी। उसने 50 राउंड फायरिंग की, जिसमें पवन की मौत हो गई।