सेना को बड़ी सफलता, 2 आतंकियों को 72 हूरों के पास पहुंचाया

भारतीय सेना ने मोस्ट वांटेड आतंकी ताहिर अहमद भट को मुठभेड़ में मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के गुंडना इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जमकर मुठभेड़ हुआ

सेना को बड़ी सफलता, 2 आतंकियों को 72 हूरों के पास पहुंचाया
Tahir Ahmed

भारतीय सेना ने मोस्ट वांटेड आतंकी ताहिर अहमद भट को मुठभेड़ में मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के गुंडना इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जमकर मुठभेड़ हुआ, जिसमें भारतीय सेना ने दो आतंकियों को 72 हूरों के पास पहुंचा दिया। जबकि इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया। बता दें, सेना ने जिस ताहिर भट को मार गिराया है वह डोडा के हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर हारुन अब्बास वानी का करीबी था। बता दें, आतंकियों के सटीक लोकेशन की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षाबल पहुंचे तो सेना का एक जवान आतंकियों का इनपुट लेने अंदर गया, जहां आतकियों ने भारी मात्रा में हथियार छिपा रखे थे। जिसके बाद आतंकी हरकत में आ गए और उन्होंने फायरिंग शुरु कर दी, जिसमें सेना का एक जवान घायल हो गया और वह शहीद हो गया।

वहीं मुठभेड़ को लेकर डीपी दिलबाग सिंह ने सेना के जवानों की प्रशंसा की है।  उन्होंने कहा, पुलिस के विशेष इनपुट पर एक सर्च ऑपरेशन डोडा जिले में रात में चलाया गया। हमारे पास विशेष खुफिया जानकारी सेंट्रल जोन पुलिस ने दी। इसके बाद सुरक्षाबलों को खास इलाके में भेजा गया. दुर्भाग्यपूर्ण यह रहा कि एक आर्मी का जवान इस संयुक्त ऑपरेशन में शहीद हो गया।

बता दें, ताहिर अहमद भट कई दक्षिणपंथी नेताओं की हत्या के मामले में वांछित था। बीजेपी नेता अनिल परिहार और उसके भाई अजीत परिहार की किश्तवाड़ में हत्या उसी और उसके साथियों ने की थी। आतंकी ताहिर के हिजबुल में शामिल होने के 4 दिनों के भीतर ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके पीएसओ पर हमला हुआ। बता दें, आंतकी ताहिर का नाम बनिहाल आईईडी ब्लास्ट केस में भी आया था, जिसकी जांच एनआईए कर रही थी.