मात्र 15 दिनों में रेलवे ने 10 लाख से अधिक लोगों को उनके घर पहुंचाया

भारतीय रेलवे के कर्मचारियों की कर्मठता की देन है कि मात्र 15 दिनों में देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे 10 लाख से अधिक लोगों को उनके घर पहुंचाया जा सका है।

मात्र 15 दिनों में रेलवे ने 10 लाख से अधिक लोगों को उनके घर पहुंचाया
Indian Railway

कोरोना महामारी के दौर में भारतीय रेलवे के कर्मचारियों की कर्मठता की देन है कि मात्र 15 दिनों में देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे 10 लाख से अधिक लोगों को उनके घर पहुंचाया जा सका है। 14 मई तक रेलवे ने 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाकर अपने श्रमिकों को न सिर्फ उनके घर पहुंचाया, बल्कि देशवासियों का भरोसा भी जीता। रेलवे के मुताबिक, ट्रेन में चढ़ने से पहले यात्रियों की जांच की जाती है और उनके भोजन-पानी की भी व्यवस्था की जाती है।

इन 800 ट्रेनों को विभिन्न राज्यों जैसे आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मिजोरम, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, उत्‍तराखंड और पश्चिम बंगाल में समाप्त कर दिया गया था।