चीन को सबक सिखाने के लिए CM Yogi ने बनाया खास प्लान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरु किए गए आत्म निर्भर भारत अभियान के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में आ गए हैं।

चीन को सबक सिखाने के लिए CM Yogi ने बनाया खास प्लान
Cm Yogi

इन दिनों पूरी दुनिया चीनी वारयस से तंग आ चुकी है। अमेरिका, ब्रिटेन समेत तमाम देश चीन पर कार्रवाई करना चाह रहे हैं। वहीं भारत में भी चीनी सामाने के बहिष्कार की चर्चा चल रही है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरु किए गए आत्म निर्भर भारत अभियान के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन में आ गए हैं। सबसे पहले उन्होंने चीन को ही निशाने पर लिया है। गुरुवार को सीएम योगी ने साफ-साफ शब्दों में कह दिया कि हमें स्वदेशी सामानों पर निर्भर रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि दीपावली के अवसर पर हमारे देश में गौरी-गणेश की प्रतिमाएं चीन से क्यों आएंगी? क्या हमारे गोरखपुर का टेराकोटा इसकी आपूर्ति नहीं कर सकता? उन्होंने कहा कि हम उन्हें डिजाइन देंगे और वे उसके अनुसार उत्पादन करेंगे। सीएम योगी ने विश्वास जताते हुए कहा कि चीन से बेहतर प्रोडक्ट देने की क्षमता हमारे पास है।

इन परिस्थितियों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बातें बड़े अहम हैं। क्योंकि दीपावली के समय हमेशा से ही भारत में चीनी सामानों के बहिष्कार की बात होती रही है, लेकिन उस पर अमल नहीं किया जा सका। ऐसे सीएम योगी स्वयं सामने आकर चीनी को मात देना चाहते हैं। उन्होंने चीन पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि आज पूरी दुनिया चीन से पलायन कर रही है, लोगों को चीन से नफरत हो गई है। क्योंकि पूरी दुनिया जिस वैश्विक महामारी को झेल रही है, प्रत्येक व्यक्ति देख रहा है कि इसके पीछे कहीं न कहीं चीन ही है। अगर सीएम योगी की बातों पर अमल हो तो हमारे देश में एक वर्ग को रोजगार मिलेगा और देश का पैसा देश में ही रहेगा।

वहीं मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हम लोग कुम्हारों को निःशुल्क मिट्टी उपलब्ध करा रहे थे। वह उससे मिटृटी के दीपक या अन्य उत्पाद बना रहे थे। साथ ही वे गांव के तालाब की मिट्टी निकालकर लाते थे तो वह तालाब फिर से जल संरक्षण के लिए तैयार होता था। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने जब पहला दीपोत्सव का कार्यक्रम अयोध्या में किया था तो उस कार्यक्रम में 51,000 दीप प्रज्वलित किए गए थे। यह मिट्टी के दीपक, हमें पूरे उत्तर प्रदेश में ढूंढ़ने पड़े थे तब हमें 51,000 दीपक मिल पाए थे। लेकिन विगत वर्ष हमने 5 लाख 51 हजार दीपक जलाए थे। सभी अयोध्या में ही हमारे माटी कला बोर्ड से जुड़े उद्यमियों द्वारा बनाए गए थे। सभी लोग इस बात के लिए खुश थे कि इसके कारण उनको रोजगार मिला। 

सीएम योगी ने जोर देते हुए कहा कि दुनिया भर में जो बांसुरी बजती है वह उ.प्र. के पीलीभीत में बनती है और ढोलक अमरोहा में बनती है। हमें उसको पहचानने की ताकत होनी चाहिए। हमें नए सिरे से आगे बढ़ाकर इसे प्रोत्साहित कर लें तो बहुत बड़ा कार्य होगा। यह संभावना उत्तर प्रदेश के अंदर है।