48 साल के हुए सीएम योगी, पीएम मोदी ने अपने अंदाज में दी शुभकामनाएं

उत्तर प्रदेश के तेजतर्रार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज 48 साल हो गए। उनके जन्मदिवस के अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके स्वस्थ जीवन की प्रार्थना की है।

48 साल के हुए सीएम योगी, पीएम मोदी ने अपने अंदाज में दी शुभकामनाएं
Yogi Adityanath Birthday

उत्तर प्रदेश के तेजतर्रार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज 48 साल हो गए। उनके जन्मदिवस के अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके स्वस्थ जीवन की प्रार्थना की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम योगी को गतिशील एवं मेहनती बताया है। अपने ट्विट में पीएम मोदी ने लिखा - उत्तर प्रदेश के गतिशील एवं मेहनती सीएम योगी आदित्यनाथ को जन्मदिवस की बधाई। उनके नेतृत्व में राज्य सभी क्षेत्रों में प्रगति की नई ऊंचाईयों को छू रहा  है। नागरिकों के जीवन में उल्लेखनीय सुधार हुआ है। सर्वशक्तिमान उन्हें लंबे और स्वस्थ जीवन का आशीर्वाद दे।

मात्र 26 वर्ष की उम्र में लोकसभा पहुंचने वाले योगी आदित्यनाथ इस समय देश में सबसे चर्चित मुख्यमंत्री हैं। कोरोना काल में लिए गए उनके फैसलों की तारीफ देश के अन्य राज्यों में भी हुई। 2017 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पहले वह गोरखपुर लोकसभा सीट से लगातार 5वीं बार सांसद थे। गोरखपुर क्षेत्र उनका गढ़ माना जाता है, जहां उन्हें हराने का माद्दा किसी में नहीं था। उत्तर प्रदेश और केंद्र में सरकार बदली लेकिन गोरखपुर सीट योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बीजेपी के लिए अजेय रहा। गौरतलब है, 1998 में योगी आदित्यनाथ पहली बार सांसद चुने गए थे। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। 45 साल की उम्र में देश के सबसे बड़े राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले योगी आदित्यनाथ बड़े हिंदू नेता के तौर पर देश ही नहीं अपितु दुनिया में पहचाने जाते हैं।

योगी आदित्यनाथ का संक्षिप्त परिचय - 

योगी आदित्यनाथ का असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। मूलरुप से उत्तराखंड के रहने वाले योगी के पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट (हाल ही में उनका निधन हुआ है) और माता का नाम सावित्री देवी है। 1989 में उन्होंने ऋषिकेश के भरत मंदिर इंटर कॉलेज से 12वीं पास की औऱ 1992 में हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से गणित में BSc की पढ़ाई पूरी की। छात्र जीवन से ही राममंदिर आंदोलन में सक्रिय रहने वाले योगी आदित्यनाथ का परिचय गोरखनाथ मंदिर के महंत अवैद्यनाथ से हुआ। उन्होंने अजय सिंह बिष्ट को योगी आदित्यनाथ बनाया। वो अवैद्यनाथ ही थे, जिन्होंने  योगी को गोरखनाथ मठ के साथ-साथ अपना सियासी उत्तराधिकारी भी बना दिया। योगी ने उन जिम्मेदारियों को भलि-भांति निभाया और अपनी विशेष पहचान बनाकर तमाम सियासी सूरमाओं को पीछे छोड़ते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद तक पहुंचे।