शी जिनपिंग की सरकार से चीन की जनता में आक्रोश, पढ़िए ये रिपोर्ट

भारत के साथ लद्दाख में हिंसक झड़प के बाद वैश्विक मंच पर चीन अलग-थलग पड़ता जा रहा है। ऐसे  में अब ड्रैगन अपने ही देश में घिरता जा रहा है। चीनी जनता अब शी जिन पिंग की कम्युनिस्ट सरकार से आक्रोशित हो रही है।

शी जिनपिंग की सरकार से चीन की जनता में आक्रोश, पढ़िए ये रिपोर्ट
Xi ZinPing

भारत के साथ लद्दाख में हिंसक झड़प के बाद वैश्विक मंच पर चीन अलग-थलग पड़ता जा रहा है। ऐसे  में अब ड्रैगन अपने ही देश में घिरता जा रहा है। चीनी जनता अब शी जिन पिंग की कम्युनिस्ट सरकार से आक्रोशित हो रही है। दरअसल, लद्दाख में भारतीय सेना के साथ हिंसक झड़प में दर्जनों चीनी सैनिक मारे गए थे, लेकिन चीनी सरकार ने उनके नाम जाहिर नहीं किए हैं, जिसकी वजह से सैनिक के परिजन तो सरकार से नाराज हैं ही साथ ही अन्य नागरिक भी जिन पिंग सरकार से आक्रोशित है।

अमेरिका की ब्रेइटबार्ट न्यूज की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के फैसले की वजह से सैनिकों के परिजन काफी परेशान हैं। वह लगातार सोशल मीडिया पर अपने जवानों को लेकर सवाल पूछ रहे हैं। जिन्हें शांत करा पाने में चीनी सरकार नाकाम हो रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि गालवान घाटी में मारे गए चीनी सैनिकों के बाद कई सैनिकों के परिजनों ने चीन की सोशल मीडिया साइट वीबो और अन्य पर सोशल मीडिया मंचों पर शी जिनपिंग की सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। वह सरकार से चीनी सैनिकों के नाम उजागर करने की मांग कर रहे हैं, जो लद्दाख में मार गए। 

बता दें, 15 जून को भारतीय सैनिकों ने हिंसक झड़प में चीन के 40 से ज्यादा सैनिकों को मार गिराया था, लेकिन चीनी सरकार ने मौत के आंकड़ों को छुपा लिया। ऐसे में अब चीन को अपने ही नागरिकों के क्रोध का शिकार होना पड़ रहा  है। हालांकि, बाद में चीन ने माना कि उसके कमांडिंग ऑफिसर की मौत हो गई थी। बता दें, भारत-चीन सीमा पर अभी भी विवाद कायम है। दोनों देशों की सेना लगातार गालवान घाटी के पास जमी हुई है।