1 जुलाई से शुरु हो रही चारधाम यात्रा, सिर्फ यहीं के लोग कर सकेंगे यात्रा

1 जुलाई से चारधाम यात्रा शुरु हो रही है। लेकिन कोरोना के मद्देनजर सिर्फ उत्तराखंड राज्य के लोग ही चारधाम यात्रा कर सकेंगे।

1 जुलाई से शुरु हो रही चारधाम यात्रा, सिर्फ यहीं के लोग कर सकेंगे यात्रा
Badrinath

1 जुलाई से चारधाम यात्रा शुरु हो रही है। लेकिन कोरोना के मद्देनजर सिर्फ उत्तराखंड राज्य के लोग ही चारधाम यात्रा कर सकेंगे। इसके अलावा बाहरी राज्यों से आने वाले उत्तराखंड के निवासी क्वारंटीन की प्रक्रिया पूर्ण करेंगे, उसके बाद ही वह चारधाम की यात्रा कर सकेंगे। वहीं कोरोना की वजह से सिर्फ सीमित संख्या में ही यात्री जा सकेंगे, मतलब साफ है कि इस बार चारधाम यात्रा में भीड़ नहीं जुटेगी। 

चारधाम यात्रा के नए नियम के मुताबिक, एक दिन में 1200 यात्री बद्रीनाथ, 800 यात्री केदारनाथ, 600 यात्री गंगोत्री और 400 यात्री यमुनोत्री की यात्रा कर सकेंगे। हालांकि, कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को यात्रा की इजाजत नहीं होगी। यात्रियों लिए दर्शन का समय सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक तय किया गया है। वहीं दर्शन के लिए यात्रियों को टोकन दिया जाएगा। वहीं यात्री पुजारी से नहीं मिल सकेंगे।

वहीं स्थानीय मंदिर समिति के लोगों ने देवस्थानम बोर्ड और सरकार के फैसले पर आपत्ति जताई है। मंदिर समिति का कहना है कि बोर्ड के फैसले को मानने के लिए मंदिर प्रशासन बाध्य नहीं है। मंदिर समिति ने कहा है कि चारधाम यात्रा में पहले की भांति ही पूजा-पाठ होगा।