आर्मी के नाम पर ठगी की कोशिश, अब दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज

दिल्ली के गाजीपुर से सामने आया है, जहां आर्मी के नाम पर एक टिफिनवाले से ठगी की कोशिश की गई है।

आर्मी के नाम पर ठगी की कोशिश, अब दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज

लॉकडॉउन के बीच जहां छोटे कारोबारी दो जून की रोटी के लिए मोहताज हैं तो वहीं ओर हमारे समाज में तमाम ऐसे अराजक तत्व हैं जो इन गरीबों को निचोड़ने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। ताजा मामला दिल्ली के गाजीपुर से सामने आया है, जहां आर्मी के नाम पर एक टिफिनवाले से ठगी की कोशिश की गई है। हालांकि, वह ठगी का शिकार होने से बच गया। दरअसल आशुतोष पांडेय नाम के व्यक्ति दिल्ली के गाजीपुर में टिफिन का काम करते हैं। लेकिन लॉकडॉउन की वजह से उनका काम बंद है। लेकिन इसी बीच 7 मई को कुछ लोग आर्मी के नाम पर आशुतोष को फोन कर उसे अगले 10 दिनों तक 12 लोगों के भोजन की व्यवस्था करने के लिए कहते हैं। फोन पर वे आशुतोष को कहते हैं कि उनकी ड्यूटी गाजीपुर फ्लाईओवर के पास लगा है, ऐसे में उन्हें खाने की समस्या है। हालांकि, यहां गौर करने वाली बात यह है कि आर्मी के लोगों की ड्यूटी जहां भी लगती है वहां उनके रहने खाने की व्यवस्था की जाती है।

लेकिन आशुतोष इस बात से अनजान खाना देने के लिए तैयार हो जाता है। और जब खाना देने की बारी आती है तो फर्जी आर्मी बनने वाले कहते हैं कि उनके पास कैश की समस्या है तो ऑनलाइन पेमेंट कर देंगे। लेकिन वे आशुतोष से उसके एटीएम का फोटो मांगने लगते हैं, हालांकि आशुतोष ने मना कर दिया। यही नहीं जब आशुतोष उनसे कहता कि कोई बात नहीं खाना बन चुका है आप खाना लेते जाइए, पैसे बाद में दे देना। लेकिन वे पैसा देने के लिए लगातार एटीएम का फोटो मांगते रहे। जिसपर आशुषोत को संदेह हो गया और उसे समझ में आ चुका था कि उसके साथ कोई फ्रॉड करने की कोशिश कर रहा है। इसके बाद उसने पुलिस से मामले की शिकायत की। वहीं बाद में दिल्ली स्थित पटपड़गंज थाने से आशुतोष के पास फोन आया तो उसने पुलिस को पूरा मामला बताया। हालांकि, अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। 

वहीं आशुतोष ने बताया कि फर्जी आर्मी वाला अपना नाम मनजीत बता रहा था और व्हाट्सएप पर आर्मी की वर्दी में डीपी लगाया था। लॉकडॉउन के इस विपरीत समय में आशुतोष का तो सिर्फ खाना ही नुकसान हुआ है, लेकिन आप सतर्क रहिए। अपने बैंक की डिटेल कभी किसी के साथ साझा मत करिए। कुछ लोग बैंक के नाम पर आपसे डिटेल निकलवाने की कोशिश करते हैं तो कुछ और बनकर। इस दौरान बस उन्हें अपने भाषा में आप आशीर्वाद जरुर दे दिया करें।