PM Cares Fund के तहत 50 हजार वेंटिलेटर बनाए जा रहे

अभी तक 2923 वेंटिलेटर बनाए जा चुके हैं। जिसमें ने 1340 वेंटिलेटर राज्यों को भेज दिए गए हैं। 275 वेंटिलेटर महाराष्ट्र, 275 वेंटिलेटर दिल्ली, 175 वेंटिलेटर गुजरात, 100 वेंटिलेटर बिहार, 90 वेंटिलेटर कर्नाटक और 75 वेंटिलेटर को राजस्थान को दिया गया है

पीएम केयर्स फंड को लेकर विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर तमाम सवाल खड़ किए थे। इस संबंध में वह कोर्ट का दरवाजा भी खटखटा चुके हैं, लेकिन उन्हें वहां मात मिली थी। वहीं अब पीएम केयर्स फंड के पैसों से 50000 वेंलिलेटर कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में दिए जाएंगे। सबसे बड़ी बात यह है कि ये सभी वेंटिलेटर मेड इन इंडिया है। इन वेंटिलेटर के लिए पीएम केयर्स के तहत 2000 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। इसके अलावा घर पहुंचे श्रमिकों के कल्याण के लिए राज्यों को 1000 करोड़ आवंटित किए जा चुके हैं।

बता दें, 50,000 वेंटिलेटर में से 30,000 वेंटिलेटर एम/एस भारत इलेक्ट्रॉनिक्स (Bharat Electronics) लिमिटेड द्वारा बनाए जा रहे हैं। बाकी 20000 वेंटिलेटर में से 10000 वेंटिलर एग्वा हेल्थकेयर (Agva Healthcare), 5650 वेंटिलेटर एएमटीजेड बेसिक (AMTZ Basic), 4000 वेंटिलेटर एएमटीजेड हाई एंड (AMTZ High And) और 350 वेंटिलेटर एलायड मेडिकल (Allied Medical) द्वारा बनाए जा रहे हैं।

बता दें, अभी तक 2923 वेंटिलेटर बनाए जा चुके हैं। जिसमें ने 1340 वेंटिलेटर राज्यों को भेज दिए गए हैं। 275 वेंटिलेटर महाराष्ट्र, 275 वेंटिलेटर दिल्ली, 175 वेंटिलेटर गुजरात, 100 वेंटिलेटर बिहार, 90 वेंटिलेटर कर्नाटक और 75 वेंटिलेटर को राजस्थान को दिया गया है। वहीं जून के अंत तक सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 14,000 वेंटिलेटर की आपूर्ति कर दी जाएगी।